अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस - राजीव उपाध्याय
आजु ले - सुभाष पाण्डेय
रूपिया के गाछ - राम प्रकाश तिवारी
ई काहे? - कनक किशोर
मैना खातिर रचना आमंत्रित (वर्ष - 8 अंक: 121 जनवरी - मार्च 2021)
मैना: वर्ष - 7 अंक - 120 (अक्टूबर - दिसम्बर 2020)
संपादकीय: मैना: वर्ष - 7 अंक - 120 (अक्टूबर - दिसम्बर 2020)
धन्यवाद
'गोपी गीत' में समकालीन जुगबोध - दिनेश पाण्डेय
भोजपुरी कहानी के बड़ होखे के पहचान: 'बड़प्पन' - विष्णुदेव तिवारी
चौधरी कन्हैया प्रसाद सिंह ‘आरोही’ के कविता में राष्ट्रीयता - डॉ. सुनील कुमार पाठक
देशप्रेम के लहू बढ़ावत संग्रह 'माटी करे पुकार' - जयशंकर प्रसाद द्विवेदी
कहानीकार ‘आरोही’ जी - केशव मोहन पाण्डेय

मैना: भोजपुरी साहित्य क उड़ान (Maina Bhojpuri Magazine) Designed by Templateism.com Copyright © 2014

मैना: भोजपुरी लोकसाहित्य Copyright © 2014. Bim के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.