हमार धनिया - दिलीप कुमार पाण्डेय

हमार धनिया लागेली आजो कनिया
हमार धनिया
हमार धनिया हो, हमार धनिया हो
हमार धनिया---

कान में ईयर फोन हाथ में मोबाइल
जींस टॉप पहिरी के, मारे इस्टाइल।
सोनवा का आगे भावत नाहीं चनिया
हमार धनिया लागेली आजो कनिया।
हमार धनिया----

धोवस ना कपड़ा बनावस ना खाना
देशी पसंद ना बिदेशी सुनस गाना।
बोतले के पिएली रोजो पनिया
हमार धनिया लागेली आजो कनिया।
हमार धनिया----

गांव नीक लागे ना, बसेली शहर में
पिया के नगर गड़े, चैन नइहर में।
पैनालियो बदलि गइलें सोरहनिया
हमार धनिया लागेली आजो कनिया।
हमार धनिया------
-------------------------------------
लेखक परिचय:-
नाम - दिलीप कुमार पाण्डेय
बेवसाय: विज्ञान शिक्षक
पता: सैखोवाघाट, तिनसुकिया, असम
मूल निवासी -अगौथर, मढौडा ,सारण।
मो नं: 9707096238

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

मैना: भोजपुरी साहित्य क उड़ान (Maina Bhojpuri Magazine) Designed by Templateism.com Copyright © 2014

मैना: भोजपुरी लोकसाहित्य Copyright © 2014. Bim के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.