मइया जगदंबा - विद्या शंकर विद्यार्थी

मइया जगदंबा गोहार करऽतानीं
करजोरी बिनती तोहार करऽतानीं।

सरधा के दियवा भगतिया में बारीं
जै जै भवानी कही तोहके पुकारीं
सगरी से परदा ओहार करऽतानीं।

लाल रंग ध्जवा में मुरूति सिअवलीं
पँच कनेयन के पूजी के बिध पुरवलीं
महिना कुआर ह कुआर करऽतानीं।

मटिया के कलशा ढकनिया में जऊआ
अमवा के हरियर पाँच गो पलऊआ
गलती के मइया जी सुधार करऽतानीं।

शेर पर सवार होके आवऽ ना भवानी
आदि सकति माई हऊ हऊ कल्यानी
देरी कहाँ भइल बा बिचार करऽतानीं।
----------------------------
लेखक परिचयः
नाम: विद्या शंकर विद्यार्थी
C/o डॉ नंद किशोर तिवारी
निराला साहित्य मंदिर बिजली शहीद
सासाराम जिला रोहतास (सासाराम )
बिहार - 221115
मो. न.: 7488674912

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

मैना: भोजपुरी साहित्य क उड़ान (Maina Bhojpuri Magazine) Designed by Templateism.com Copyright © 2014

मैना: भोजपुरी लोकसाहित्य Copyright © 2014. Bim के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.