धोबी गीत

कवना पोखरवा मे झिलमिल पनिया
कि कवना पोखरवा सेवार।

कवना पोखरवा में चेल्हवा मछरिया
कि केहो बिगे महाजाल।

राम पोखरवा में झिलमिल पनिया
कि लछुमन पोखरवा सेवार।

सीता पोखरवा में चेल्हवा मछरिया
कि रावन फेंके महाजाल।

लाल घोड़वा पर लाल चढ़ि अइले
कि उजर घोड़वा भगवान।

सोने पलकिया में सीता चढ़ि अइली
कि चँवर डोलावे हनुमान।
----------------------------
धोबी गीत

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

मैना: भोजपुरी साहित्य क उड़ान (Maina Bhojpuri Magazine) Designed by Templateism.com Copyright © 2014

मैना: भोजपुरी लोकसाहित्य Copyright © 2014. Bim के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.